Thu. Jun 13th, 2024

औजारों का इस्तेमाल करने वालों में पृथ्वी पर इंसान अकेला नहीं है. वैज्ञानिकों ने ऊदबिलावों को औजार का इस्तेमाल करते देखा और समझा है. ये जीव पत्थर से लेकर इंसानों की छोड़ी बोतलों और दूसरी चीजों से भी अपना काम निकालते हैं.

मेवे का सख्त छिलका तोड़ने के लिए चिंपैंजी पत्थर का इस्तेमाल करते हैं और छड़ियों से दीमक मारते हैं. खाना ढूंढने निकली डॉल्फिन अपनी चोंच की रक्षा के लिए स्पंज का उपयोग करती हैं. गालापगोस द्वीपों पर फिंच (गाने वाली छोटी चिड़िया) कैक्टस कांटों की मदद से कीड़ों को उनके बिल से निकालते हैं. औजार इस्तेमाल करने वाले जीवों के समूह का एक सदस्य समुद्री ऊदबिलाव का भी है.

कठोर जीवों को खोलने के औजार
एक नई रिसर्च से समुद्री ऊदबिलाव के औजारों के इस्तेमाल के बारे में काफी बातों का पता चला है. यह समुद्री जीव चट्टानों और दूसरी चीजों का इस्तेमाल कर कठोर शिकारों को खोलते हैं. इसकी वजह से ऊदबिलाव कुछ बड़े शिकारों को खा पाते हैं और साथ ही कठोर आवरण को तोड़ने या फिर चबाने में उनके दांतों को नुकसान भी नहीं पहुंचता.

घाव पर मरहम लगाते पाया गया वनमानुष

ऊदबिलाव जब अपने दातों से शिकार को तोड़ नहीं पाते तो वे अपनी पीठ के सहारे पानी में बहते ले जाते हैं. इस दौरान चट्टान, कवच या बेकार बोतलों को हथौड़ी की तरह इस्तेमाल करते हैं या फिर कठोर आवरण वाले शिकारों को उनसे टकरा कर उन्हें खोलना चाहते हैं. कई बार वे ऐसे शिकारों को डॉक या नाव की सतहों से भी टकरा कर तोड़ने की कोशिश करते हैं.

इन शिकारों में उर्चिन, एबलोन, केकड़े, सीप, घोंघा और इसी तरह के दूसरे जीव शामिल हैं. कुछ बड़े शिकारों का कवच काफी ज्यादा सख्त होता है. उनके अंदर मौजूद खाए जाने वाले नरम हिस्से तक पहुंचने के लिए उन्हें बिना औजारों के तोड़ना बहुत मुशअकिल है. उदाहरण के लिए सीप, और घोंघा जैसे जीवों को तो बिल्कुल ही खाया नहीं जा सकता.

खासतौर से मादा ऊदबिलाव औजारों का इस्तेमाल नर की तुलना में ज्यादा करती हैं. रिसर्चरों का मानना है कि ऐसा उनके छोटे आकार और चबाने की कम ताकत की वजह से होता है. रिसर्चरों ने कैलिफोर्निया के तटवर्ती इलाके बिग सर, मोंटेरे, सान लुईस उबिस्पो, पीड्रास ब्लांका और एल्कहोर्न स्लॉफ में 196 दक्षिणी समुद्री ऊदबिलावों की निगरानी की.

ऊदबिलाव को औजारों की जरूरत
टेक्सस यूनिवर्सिटी और वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के इवॉल्यूशनरी बायोलॉजिस्ट क्रिस लॉ इस रिसर्च रिपोर्ट के प्रमुख लेखक हैं. उन्होंने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया, “औजारों का इस्तेमाल वैकल्पिक कठोर शिकारों को, जो सिर्फ चबा कर नहीं खाए जा सकते, तैयार करने के लिए जरूरी ऊर्जा को बनाए रखने में मदद करती है. इससे पता चलता है कि यह सीमित संसाधनों वाले वातावरण में कुछ ऊदबिलावों के अस्तित्व के लिए यह व्यवहार जरूरी है.”

यह रिपोर्ट साइंस जर्नल में छपी है. इसमें यह भी बताया गया है कि औजारों का इस्तेमाल कितनी बार होगा यह अलग अलग ऊदबिलावों पर निर्भर करता है. रिसर्च रिपोर्ट की सहलेखक और कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी की जीवविज्ञानी रीता मेहता ने बताया कि कुछ ऊदबिलाव खाने के दौरान 90 फीसदी तक इसका प्रयोग करते हैं तो कुछ कभी कभार या फिर कभी नहीं. औजारों का इस्तेमाल खासतौर से मादा ऊदबिलाव के लिए जरूरी हो जाता है. मेहता का कहना है, “मादाओं को कैलोरी की जरूरत होती है. वो नर की तुलना में छोटी होती हैं और गर्भवती या बच्चे पाल रही मादा को ज्यादा कैलोरी की जरूरत होती है. औजार इस्तेमाल करने वाली मादा बड़े शिकारों का ज्यादा हिस्सा खाती हैं जो जिससे उनकी कैलोरी की जरूरत पूरी होती है.” Sabhar https://www.dw.com

The report in Science Journal reveals the dependence of tool usage on different contexts. – Research co-author Rita Mehta, a biologist from the University of California, explains that some primates use tools up to 90% of the time during feeding, while others rarely or never use them. – Tool usage is particularly important for female primates. – Mehta states that females, especially pregnant or nursing ones, require more calories than males. – Females using tools consume a larger portion of big prey, fulfilling their calorie needs.

Mehta explains that female primates, especially those who are pregnant or nursing, require more calories than males. The report in Science Journal reveals that tool usage among primates varies depending on the context. Some primates use tools up to 90% of the time during feeding, while others rarely or never use them. Tool usage is particularly important for female primates as it helps them consume a larger portion of big prey, fulfilling their calorie needs. The report in the Science Journal highlights that the usage of tools among primates is context-dependent. Some primates utilize tools extensively during feeding, reaching up to 90% of the time, while others display minimal or no tool usage. It is particularly crucial for female primates, especially those who are pregnant or nursing, to employ tools as they have higher caloric requirements compared to males. By utilizing tools, female primates are able to consume larger portions of significant prey, thus meeting their calorie needs.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *